कुल पेज दृश्य

मंगलवार, 4 दिसंबर 2018

Saila Dance of Gond Tribe|Rina Dance|गोंड जनजातीय समुदाय के सैला और रीना नृत्य

Saila Dance of Gond Tribe|Rina Dance|गोंड जनजातीय समुदाय के सैला और रीना नृत्य की प्रभावी प्रस्तुति|

https://youtu.be/VVfhp92mVe4

Prof. Shailendra Kumar Sharma
प्रो। शैलेंद्रकुमार शर्मा


शनिवार, 8 सितंबर 2018

विश्व फलक पर हिंदी के नए आयाम पर राष्ट्रीय परिसंवाद और सिने गीतकार अभिलाष को विश्व हिंदी सेवा सम्मान

विश्व फलक पर हिंदी के नए आयाम पर राष्ट्रीय परिसंवाद
 सिने गीतकार अभिलाष को विश्व हिंदी सेवा सम्मान

मालवा रंगमंच समिति  द्वारा हिंदी पखवाड़े के अवसर पर 22 वें अखिल भारतीय हिंदी सेवा सम्मान एवं दो दिवसीय राष्ट्रीय परिसंवाद के पहले दिन सुप्रसिद्ध सिने गीतकार अभिलाष (इतनी शक्ति हमें देना दाता, मन का विश्वास कमजोर हो ना) को विश्व हिंदी सेवा सम्मान से सम्मानित किया गया। इस कार्यक्रम में उनका सम्मान विक्रम विश्वविद्यालय के कुलानुशासक प्रो शैलेंद्रकुमार शर्मा, समाजशास्त्री प्रो शैलेंद्र पाराशर, व्यंग्यकार डॉ पिलकेन्द्र अरोरा, वरिष्ठ पत्रकार श्री नरेंद्र सिंह अकेला, संस्थाध्यक्ष श्री केशव राय ने किया।


विश्व फलक पर हिंदी के नए आयाम पर केंद्रित राष्ट्रीय परिसंवाद अतिथियों ने विचार व्यक्त किए। श्री अभिलाष ने सैकड़ों फिल्मों में बारह सौ से अधिक गीत रचे हैं। अंकुश, सावन को आने दो जैसी अनेक लोकप्रिय फिल्मों में समाहित उनके गीतों को देश-दुनिया में बहुत गाया-गुनगुनाया जाता है। विश्व प्रसिद्ध गीत 'इतनी शक्ति हमें देना दाता' के लिए अभिलाषजी तत्कालीन  राष्ट्रपति ज्ञानी जैल सिंह द्वारा नेशनल अवार्ड मिल चुका है। इस गीत को देश के सैंकड़ों विद्यालयों में प्रार्थनास्वरूप गाया जाता है। इतनी शक्ति हमें देना दाता के अलावा अभिलाषजी के लिखे साँझ भई घर आजा (लता), आज की रात न जा (लता), वो जो ख़त मुहब्बत में (उषा), तुम्हारी याद के सागर में (उषा), संसार है इक नदिया (मुकेश), तेरे बिन सूना मेरे मन का मंदिर (येसुदास) आदि सिने गीत भी लोकप्रिय हुए।  सिने गीतों पर उनसे हुई चर्चा यादगार रहेगी।
सिने जगत के मीडिया परामर्शक श्री केशव राय Keshav Rai ने यह यादगार अवसर जुटाया था। उनकी ओर से समारोह रपट -
मालवा रंगमंच समिति द्वारा  राष्ट्रीय हिंदी सेवा सम्मान 2018 और परिसंवाद आयोजित किया गया। समारोह में प्रख्यात सिने गीतकार श्री  अभिलाष को  सम्मानित  किया गया। कार्यक्रम के अतिथि विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन के कुलानुशासक प्रो शैलेन्द्रकुमार शर्मा, समाज चिन्तक प्रो शैलेन्द्र पाराशर, वरिष्ठ पत्रकार श्री नरेंद्र सिंह अकेला, व्यंग्यकार डॉ पिलकेंद्र अरोरा, मालवा रंगमंच समिति के संस्थापक अध्यक्ष श्री केशव राय आदि ने अभिलाष जी को सम्मान पत्र, प्रतीक चिह्न अर्पित कर उनका आत्मीय  सम्मान किया। सिने गीतकार अभिलाष जी ने अपने संबोधन में कहा कि हिन्दी सिनेमा के गीतों के माध्यम से उनकी पहचान दूर देशों तक पहुंची है। इतनी शक्ति हमें देना दाता गीत दुनिया की कई भाषाओं में अनूदित हुआ।

प्रो शैलेंद्रकुमार शर्मा 

गीतकार अभिलाष










प्रो शैलेन्द्रकुमार शर्मा ने अपने उद्बोधन में कहा कि हिंदी को विश्व भाषा बनाने में सौ से अधिक देशों में बसे तीन करोड़ से ज्यादा भारतवंशियों की अहम भूमिका है। इसी तरह हिंदी फिल्मों और उनके गीतों ने महत्त्वपूर्ण योगदान दिया है। विदेशों में बसे भारतीयों के लिए हिन्दी महज सम्प्रेषण की भाषा नहीं, अपनी संस्कृति, अपने जीवन का पर्याय है।
प्रो शैलेंद्र पाराशर ने हिंदी से जुड़े विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डाला। श्री नरेंद्र सिंह अकेला, डॉ पिलकेन्द्र अरोरा आदि  ने भी विचार व्यक्त किये । 1 सितम्बर को आयोजित समारोह के प्रारम्भ में स्वागत वक्तव्य  संस्थाध्यक्ष श्री केशव राय ने दिया। सम्मान पत्र का वाचन  श्री महेश शर्मा अनुराग ने किया। अतिथि स्वागत श्री राजेश राय, श्री महेश शर्मा अनुराग, श्री प्रमोद राय,श्री ऋषि राय, श्री हर्षवर्धन लाड़, श्री  प्रकाश बांठिया  आदि ने किया। श्री अभिलाष जी  के लोकप्रिय गीत इतनी शक्ति हमें देना दाता पर आधारित कथक शैली में मनोरम नृत्य की प्रस्तुति प्रतिभा रघुवंशी के निर्देशन में नई पीढ़ी के कलाकारों ने दी। संचालन कवि श्री दिनेश दिग्गज और आभार श्री प्रकाश बांठिया ने माना ।

रविवार, 5 अगस्त 2018

Kabir : Chetavani Bhajan कबीर की चेतावनी: लोक जीवन के विविध रूपकों के जरिए जीवन-मर्म को उद्घाटित करती रम्य रचना

कबीर की चेतावनी: लोक जीवन के विविध रूपकों के जरिए जीवन-मर्म को उद्घाटित करती रम्य रचना 
यूट्यूब लिंक पर जाएँ।
शैलेंद्रकुमार शर्मा Shailendrakumar Sharma 
मालवी लोक संस्कृति: Malvi Diwas Malvi Folklore  




रविवार, 15 जुलाई 2018

लोक संस्कृति पर एकाग्र यूट्यूब चैनल Youtube Channel on Folklore

बहुरंगी भारतीय नृत्य, संगीत, नाट्य पर एकाग्र चैनल को पसन्द, शेयर और सब्सक्राइब करने के लिए लिंक पर जाएँ।
प्रो शैलेंद्रकुमार शर्मा
Prof. Shailendrakumar Sharma


https://www.youtube.com/channel/UCL2L0O8RChuDNddvSAdz0fQ

Kalbelia Dance कालबेलिया नृत्य

कालबेलिया नृत्य

यूनेस्को की अमूर्त सांस्कृतिक विरासत में शामिल विश्वप्रसिद्ध लोक नृत्य शैली।
पसन्द, शेयर और सब्सक्राइब करें:

प्रो शैलेंद्रकुमार शर्मा
Shailendrakumar Sharma

https://youtu.be/BuMzAmncdwU

रविवार, 10 जून 2018

गणगौर गीत: शुक्र को तारो रे ईश्वर ऊगी रयो


प्रसिद्ध लोक गायिका श्रीमती हेमलता उपाध्याय के स्वरों में।

https://youtu.be/oFKuw1q8qek

संजा नृत्य और गीत

संजा नृत्य और गीत


नृत्य निर्देशन: डॉ पल्लवी किशन
संगीत: पं शीतलकुमार माथुर
स्वर: उज्ज्वला दुबे और समूह।
प्रतिकल्पा की प्रभावी प्रस्तुति


https://youtu.be/m-qZcKgCWvc

प्रस्तुतकर्ता
प्रो शैलेंद्रकुमार शर्मा